आज से ठीक 2 दिन बाद यानी 10 फरवरी को उत्तर प्रदेश में पहले चरण का मतदान होना है। चुनाव के इतने करीब आने के बाद अपना दल (S) की चीफ अनुप्रिया पटेल का ने कहा है कि उनकी पार्टी विचारधारा के तौर पर बीजेपी से अलग है।

अपना दल (S) उत्तर प्रदेश में भाजपा के साथ मिलकर चुनाव लड़ रही है। बावजूद इसके अनुप्रिया पटेल का कहना है कि उनकी पार्टी हिन्दुत्व और इससे जुड़े मुद्दे से खुद को अलग करती है। उनकी पार्टी के लिए मुस्लिम अछूत नहीं हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, केंद्र की मोदी सरकार में मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा है, “हां, हम वैचारिक रूप से BJP से अलग हैं, लोग मुझसे हिंदुत्व और उन सभी मुद्दों पर सवाल पूछने की कोशिश कर रहे हैं, मैं उन सभी मुद्दों से खुद को अलग करती हूं और मेरी पार्टी धार्मिक राजनीति नहीं करती है, हम सामाजिक न्याय के लिए खड़े हैं और इसी में विश्वास करते हैं यही हमारी विचारधारा है।”

अपने पार्टी के इतिहास को याद करते हुए अनुप्रिया कहती हैं, “जब मेरी पार्टी के संस्थापक सोनेलाल पटेल जीवित थे तो मेरी पार्टी के पहले विधायक एक मुसलमान थे जिन्होंने प्रतापगढ़ सदर सीट से जीत हासिल की और उनका नाम हाजी मुन्ना था। कई मुसलमान अपना दल के प्रदेश अध्यक्ष रहे हैं। इसलिए मेरी पार्टी के लिए मुसलमान हैं अछूत नहीं है और मैं उम्मीदवारों को उनके मजहब के चश्मे से नहीं देखती।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here