उत्तर प्रदेश पुलिस से हाल ही में वीआरएस लेकर राजनीति मे आये आईपीएस अधिकारी अरुण असीम को भाजपा जॉइन कराते हुए केंद्रीय मंत्री और भाजपा नेता अनुराग ठाकुर ने समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। अनुराग ठाकुर ने कहा है कि “समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार या तो जेल मे होते है या बेल पर बाहर होते है”

ठाकुर ने आगे कहा, समाजवादी पार्टी गुंडों की पार्टी है और वे उन लोगों को टिकट देते है जो अपराधी होते है या दंगे करवाते है। कैराना उम्मीदवार नाहिद हसन जो कि हाल में जेल में बन्द है और आजम खान का बेटा अब्दुल आजम कल ही बेल पर छुटे हैं। अनुराग ठाकुर ने दावा किया है कि समाजवादी पार्टी गुंडों को टिकट देती और भाजपा गुंडों को पकड़वती है।

अनुराग ठाकुर के इस दावे में कितनी सच्चाई है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उत्तर प्रदेश विधानसभा में भाजपा के 304 विधायकों मे से 106 ऐसे है जिन पर आपराधिक मुक़दमे दर्ज हैं। ये आंकड़ा एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफार्म (एडीआर) की एक रिपोर्ट से लिया गया है।

जहां तक भाजपा राज में गुंडों को पकड़वाने का दावा है तो उसकी सच्चाई राष्‍ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्‍यूरो के आंकड़ों में छिपा है। NCRB-2020 के आंकड़ों के मुताबिक, उत्तर प्रदेश हत्या, दलित उत्पीड़न, महिलाओं के साथ होने वाले अपराध, मानवाधिकार हनन, हिरासत में मौत के मामले में नंबर-1 है।

अगर आंकड़ों को छोड़ भी दे तो कम से कम अनुराग ठाकुर जैसे खराब छवी के नेता को दूसरों पर आरोप लगाने से बचना चाहिए। दिल्ली विधानसभा चुनाव के दौरान अनुराग ठाकुर ने मंच से खुलेआम नफरती नारे लगवाए थे। अनुराग ठाकुर की रैली का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। इस वीडियो में अनुराग ठाकुर मंच से नारे बोलते हुए सुनाई दे रहे हैं कि ‘देश के गद्दारों को…  इसके बाद मंच के नीचे मौजूद लोग ‘गोली मारो…. को’ बोलते हैं। शिकायत के बाद चुनाव आयोग ने अनुराग ठाकुर को चुनावी प्रचार करने से रोक दिया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

seventeen + 15 =