मध्यप्रदेश में होने वाले विधानसभा उपचुनाव से पहले राज्य में भाजपा जनता के निशाने पर आ गई है। आलम यह है कि अब राज्य की जनता ने सीधे तौर पर भाजपा को नकारना शुरू कर दिया है। इसका उदाहरण हाल ही में इंदौर के सांवेर में देखने को मिला है।

सोशल मीडिया पर सांवेर में रखी गई एक जनसभा की वीडियो वायरल हो रही है। जिसमें देखा जा सकता है कि मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भाषण के दौरान कुर्सियां खाली पड़ी है।

दरअसल मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के भाषण के बीच उस वक्त अजीबोगरीब स्थिति बन गई।

जब कार्यक्रम के बीच ही महिलाएं उठकर जाने लगी लेकिन वहां पर मौजूद महिला पुलिसकर्मी उन महिलाओं को जबरदस्ती रोकने की कोशिश कर रही है। ताकि वह महिलाएं शिवराज सिंह चौहान और भाजपा नेताओं का भाषण सुनकर ही जाएं।

वीडियो में नजर आ रहा है कि सामने बिक रहा पंडाल पूरी तरह से खाली हो चुका है। जब तक मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का भाषण खत्म हुआ। तब तक पंडाल में नाम मात्र भीड़ ही रह गई थी

आपको बता दें कि इस कार्यक्रम में सीएम शिवराज सिंह समेत भाजपा के राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया, राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय, कैबिनेट मंत्री और सांवेर से बीजेपी के उम्मीदवार तुलसी सिलावट सहित बड़ी तादाद में पार्टी नेता और कार्यकर्ता शामिल हुए थे।

गौरतलब है कि कांग्रेस द्वारा भारतीय जनता पार्टी पर कई बार आरोप लगाया गया है कि भाजपा अपनी जन सभाओं और रैलियों में पैसे देकर भीड़ इकट्ठा करती है। इस वीडियो को देखने के बाद भाजपा की सच्चाई सामने आ चुकी है।

कांग्रेस ने इस वीडियो को लेकर भाजपा की चुटकी ली है। इसी कड़ी में कांग्रेस नेता अलका लांबा ने भी इस वीडियो को ट्वीट किया है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है कि “हे राम, अब ये नौबत आ गई है कि BJP को जबरन भाषण सुनने के लिए महिलाओं को रोकना पड़ रहा है”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

twenty + 19 =