• 1K
    Shares

कांग्रेस के बाद अब भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने भी अपने उम्मीदवार चुनावी मैदान में उतार दिए है। कांग्रेस की ही तरह बीजेपी ने भी ज्यादा जोखिम ना लेते हुए अपने पुराने ही उम्मीदवारों को ही तरजीह दी है।

बस इस बार BJP की पहली लिस्ट से एक ऐसा नाम सामने आया है जो पहले तो राज्यसभा के जरिए राष्ट्र की राजनीति में आए फिर अब उन्हें आडवाणी जैसे नेता की सुरक्षित सीट दे दी गई। वो नाम है अमित शाह।

अब BJP खासकर की वो खेमा जो अटल-आडवाणी कहलाता था उसे पहली लिस्ट से क्लियर कर दिया है कि बीजेपी अब आलोचनाओं से डरने वाली नहीं है।

ADR रिपोर्ट: संपत्ति बढ़ाने में BJP नेता सबसे आगे, 5 साल में 153 सासंदों की संपत्ति दोगुनी

मगर विपक्षी नेता इस पर शांत बैठने वाले भी नहीं है। आडवाणी की सीट अमित शाह को देने पर आप विधायक अलका लांबा ने लिखा- अटल-आडवाणी जी BJP को जन्म देने वालों में से थे, जहाँ तक BJP को लाने वालों में से थे, मोदी जी जैसों को पैदा किया, ख़ुशी होती अगर राजनीति से ठीक वैसे ही रिटायरमेंट लेते जैसे काँग्रेस में डॉ मनमोहन सिंह जी, प्रणब मुखर्जी जी ने ली, एक ने प्रधानमंत्री पद से और दूसरे ने राष्ट्रपति पद से।

5 सालों में सिर्फ 365 शब्द बोल सके आडवाणी, अजीत अंजुम बोले- ‘क्या से क्या हो गए मोदी तेरे राज में’

बता दें कि केंद्रीय मंत्री जेपी नड्डा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में 184 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान किया है। इस लिस्ट में उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र, झारखंड, छत्तीसगढ़, जम्मू कश्मीर, बंगाल, राज्स्थान, असम, अरुणाचल प्रदेश, उत्तराखंड के उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की गई है। पीएम मोदी वाराणसी और अमित शाह, लाल कृष्ण आडवाणी की सीट से गांधीनगर से चुनाव लड़ेंगे।