उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव अब नजदीक है। राजनीतिक दलों ने तैयारी शुरू कर दी है। ऐसे में राजनीतिक टीका-टिप्पणी से सुबह की शुरूआत होना लाजमी है लेकिन समाजवादी पार्टी के कुछ नेताओं की आज (शनिवार) की सुबह आयकर विभाग के छापेमारी से हुई।

लखनऊ के जैनेंद्र यादव, मैनपुरी के मनोज यादव और मऊ में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता राजीव राय के घर छापेमारी की कार्रवाई की गई है। बताया जा रहा है कि ये सभी नेता सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के करीबी हैं। जैनेन्द्र यादव उर्फ नीटू तो अखिलेश यादव के ओएसडी ही हैं।

ये भी पढ़ेंः ऑक्सीजन की कमी से मौत की बात स्वीकारने वाले योगी के मंत्री ने सदन में बोला झूठ! कहा-किसी की मौत नहीं हुई

सपा नेताओं के घर हुई छापेमारी को अखिलेश यादव ने चुनावी हथकंडा बताया है। उन्होंने कहा है कि ये सब पहले भी हो सकता था, लेकिन चुनाव से पहले यह कार्रवाई बताती है कि बीजेपी सरकार भेदभाव से काम करती है। इस बात को उत्तरप्रदेश की जनता अब समझ चुकी है।

ये भी पढ़ेंः SSB परेड में मुख्य अतिथि होंगे टेनी, क्या किसान विरोधी को सम्मान दे सकेंगे जवान?

सपा प्रमुख ने कहा है कि जैसे-जैसे चुनाव आएंगे, दिल्ली से बड़े-बड़े नेता उत्तरप्रदेश में आएंगे। इनकम टैक्स के लोग भी अब यहां पर चुनाव लड़ने आ गए। अभी तो ED और CBI भी आएगी। हमें तो इस सबका पहले से ही इंतजार था। उन्होंने आगे कहा कि मैंने पहले भी कहा था कि ईडी, इनकम टैक्स और सीबीआई चुनाव से पहले आएगी, लेकिन इसके बाद भी साइकिल की रफ्तार कम नहीं होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here