• 7.5K
    Shares

उत्तर प्रदेश या हत्या प्रदेश! बुलंदशहर में अपहरण के 8 दिन बाद वकील की हत्या

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ रामराज की बात कहते-कहते यूपी को ‘जंगलराज’ की तरफ ले आये हैं। आज यूपी हकीकत में हत्या, अपहरण के खतरनाक मुहाने पर खड़ा है। कानपुर और गोरखपुर में अपहरण के बाद हुई हत्या की तरह एक जघन्य अपराध बुलंदशहर में हुआ है।

यहां आठ दिन से लापता वकील धर्मेंद्र चौधरी का शव एक फैक्ट्री से बरामद हुआ है। वकील की रुपयों के विवाद में हत्या कर शव को गढ्ढे में दबा दिया गया था। यूपी पुलिस का नाकारापन यहां भी दिखाई दिया, क्योंकि आठ दिन से लापता वकील को पुलिस ढूंढने में नाकाम साबित हुई है। अब योगी सरकार और यूपी के राज में फैले जंगलराज में आये दिन अपराध हो रहे हैं। जबकि सीएम योगी हमेशा कहते रहे हैं कि अब अपराधी यूपी छोड़कर भाग गए हैं।

खुर्जा के मोहल्ला गुलशन विहार कॉलोनी निवासी अधिवक्ता धर्मेंद्र चौधरी 25 जुलाई को संदिग्ध हालात में लापता हो गए थे। परिजनों की तरफ से सूचना देने पर पुलिस ने खोजबीन शुरू की तो उनकी बाइक क्षेत्र के गांव खबरा के जंगल से लावारिस हालत में मिली, लेकिन पुलिस को उनका कोई सुराग नहीं मिला।

शुक्रवार देर रात पुलिस ने खुर्जा निवासी एक व्यापारी की टाइल्स फैक्ट्री में एक स्थान पर खुदाई कराकर अधिवक्ता का शव बरामद किया। इसके साथ ही एक बार फिर से यूपी की कानून व्यवस्था सवालों के घेरे में है।

पुलिस के मुताबिक अधिवक्ता का खुर्जा निवासी एक टाइल्स फैक्ट्री के संचालक के साथ रुपयों के लेनदेन को लेकर विवाद था। हालांकि बुलंदशहर एसएसपी के अनुसार अधिवक्ता के शव को बरामद कर लिया गया है। मामले में कुछ लोगों को हिरासत में लिया गया है। दोषियों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here