पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों में हार मुंह देखने वाली बीजेपी पूरी तरह से बैकफुट पर है।

यही वजह है की पहले वो बिहार के गठबंधन में जेडीयू के साथ लोकसभा सीटों पर बराबर की हिस्सेदारी करने का फैसला किया और अब वित्त मंत्री अरुण जेटली ने गुड्स ऐंड सर्विसेज टैक्स को लेकर बड़ा बयान देते हुए कहा कि अंतत: देश में जीएसटी के 0, 5 और स्टैंडर्ड रेट टैक्स स्लैब होंगें।

जीएसटी पर सरकार का ये बैकगेयर ऐसे नहीं लगा है, इससे पहले कांग्रेस ने 31 फीसदी तक ऊंचे टैक्स को लेकर बीजेपी की जमकर आलोचना की थी।

जिसके बाद आम आदमी के इस्तेमाल में आने वाले सीमेंट और ऑटो पार्ट्स ही 28 फीसदी टैक्स स्लैब से हटा लिए गए।

जेटली ने कहा कि भविष्य में 12 और 18 फीसदी की जगह एक नया स्टैंडर्ड टैक्स स्लैब बनाया जा सकता है, जो इन दोनों के बीच होगा।

लग्जरी और सिन प्रॉडक्ट्स को अपवाद बताते हुए उन्होंने कहा कि  उन्होंने जीएसटी से पहले के दौर में विपक्ष पर निशाना भी साधा और आलोचनाओं का जवाब दिया।

जीएसटी में आए इस बदलाव पर कांग्रेस समर्थक आचार्य प्रमोद ने सोशल मीडिया पर तंज किया। उन्होंने लिखा- 3 राज्यों में हारने के बाद, GST “घटा” रहे हो, 2019 हारने के बाद क्या क्या करोगे? नोटबंदी” के लिये भी माफ़ी माँगोगे?।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

4 × three =