भारतीय जनता पार्टी चुनाव करीब आते ही राम का नाम झपने लगती है। इसी मुद्दे पर आज मोदी सरकार के मंत्री और आप सांसद में आज जमकर बहस हुई। जहां सांसद संजय सिंह ने काशी के मंदिरों तोड़े जाने पर संस्कृति मंत्री महेश शर्मा को जमकर हमला बोला ।

उन्होंने कहा कि ये कहते है कि राम लला हम आएंगे, मंदिर यहीं बनाएंगे। लेकिन इसके ठीक उलट काशी में ये लोग नारा लगाते हैं ‘काशी में हम आएंगे और भोलेनाथ के मंदिर तुड़वाएंगे’।

संजय सिंह ने कहा कि आज भी समस्या रोटी, कपड़ा और मकान की ही है।

जहां संकट मोचन के मंदिर में बिस्मिल्लाह खान की शहनाई बजती है, जहां मोहम्मद रफी गाना गाते हैं। सुख के सब साथी दु:ख में न कोई, मेरे राम तेरा नाम एक सांचा दूजा ना कोई इस देश के भाईचारे, एकता, अखंडता को बनाए रखने की जिम्मेदारी हम सब पर है।

इसपर जवाब देते हुए केंद्रीय मंत्री महेश शर्मा ने कहा कि यह मंदिर तुड़वाने के बात करते हैं क्योंकि ये बाबर के रिश्तेदार हैं। मंदिर तोड़ने का काम बाबर ने किया था। भारतीय जनता पार्टी मंदिर तोड़ने का तो कल्पना भी नहीं कर सकती है।

आगे महेश बोले क‍ि मैं संस्कृति मंत्री हूं। मेरा बनारस से जुड़ाव है। वहां कोई प्राचीन मंदिर नहीं तोड़े गए हैं। भगवान राम का मंदिर, शिव का मंदिर बनाना हमारा संकल्प है। इसको हम जल्द पूरा करेंगे।

संजय सिंह ने फिर जवाब में कहा कि काशी में यह बीजेपी का नारा है ‘बाबा भोले आएंगे मंदिर सारे तुड़वाएँगे’, 36 मंदिर तुड़वा दिए हैं 176 तुड़वाने का नोटिस दिया है।

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र में उनके ड्रीम प्रॉजेक्ट काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर के तहत चल रहे ध्वस्तीकरण कार्य के दौरान लोगों के घरों में कैद हो गए कई प्राचीन मंदिर अब एक-एक कर सामने आ रहे हैं।

इस दौरान 18वीं से 19वीं सदी के मध्य के कई अति प्राचीन मंदिर मिल रहें हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here