बीजेपी आईटी सेल की तर्ज़ पर ही अब बीजेपी के राष्ट्रीय प्रवक्ता संबित पात्रा भी फ़ेक न्यूज़ फैलाने में जुट गए हैं।

उन्होंने कांग्रेस को जबरन हिंदू विरोधी घोषित करने के लिए अपने ट्विटर हैंडल से मध्यप्रदेश कांग्रेस चीफ़ कमलनाथ का एक वीडियो शेयर किया है।

इस वीडियो को शेयर करते हुए संबित पात्रा ने दावा किया है कि कमलनाथ मुस्लिम रहनुमाओं से वादा कर रहे हैं कि चुनावों के बाद वह हिंदुओं से निपट लेंगे। उन्होंने वीडियो को ट्विटर पर शेयर करते हुए लिखा, “अभी अस्थाई जनेउ पहन रखा है… निपट लेंगे इनसे बाद में”।

देश की रत्न कंपनी ONGC बर्बाद हो रही है मगर डायरेक्टर संबित पात्रा ‘हिंदू-मुस्लिम’ करने में लगे हैं

बीजेपी प्रवक्ता ने लिखा, “फैन्सी ड्रेस पहनने वाले हिंदुओं का एक बार फिर भांडा फूट गया है। कमलनाथ जी मुस्लिम उलेमा से वादा कर रहे हैं कि चुनाव के बाद कांग्रेस हिंदुओं से निपट लेगी। अभी के लिए मुसलमानों को कांग्रेस के साथ खड़ा होना चाहिए”।

हालांकि संबित पात्रा वीडियो को लेकर जो दावा कर रहे हैं वह पूरी तरह से ग़लत है।

कांग्रेस नेता कमलनाथ ने इस वीडियो में कहीं भी हिंदुओं से निपटने की बात नहीं की। उन्होंने वीडियो में आरएसएस से निपटने की बात कही है, जिसे बड़ी ही चालाकी से पात्रा ने हिंदू कर दिया।

कांग्रेस नेता ने वीडियो में कहा, “उनका (आरएसएस) एक ही स्लोगन है। अगर हिंदू को वोट देना है तो हिंदू शेर को वोट दो। अगर मुस्लिम को वोट देना है तो कांग्रेस को वोट दो।

संबित पात्रा के दंगाई बोल- अल्लाह के भक्त बैठ जाओ वर्ना मस्जिद का नाम बदलकर विष्णु के नाम पर कर दूंगा

यह इनकी रणनीति है और इसमें आप सबको बड़ा सतर्क रहना पड़ेगा। आपको उलझाने की कोशिश करेंगे। हम निपट लेंगे इनसे बाद में पर मतदान के दिन तक आपको सबकुछ सहना पड़ेगा”।

इस पूरे वीडियो में कमलनाथ ने कहीं भी हिंदुओं से निपटने की बात नहीं की। लेकिन इसी वीडियो को शेयर करते हुए संबित पात्रा ने आरएसएस को ही हिंदू बता दिया और यह दावा कर दिया कि चुनाव के बाद कांग्रेस हिंदुओं से निपटने की बात कर रही है।

अब सवाल यह उठता है कि क्या आरएसएस हिंदू का पर्याय है? जिसे पात्रा ने यहां इस्तेमाल किया है। क्या जो हिंदू आरएसएस से नहीं जुड़े हैं उन्हें ख़ुद को हिंदू कहने का अधिकार नहीं है?

मोदीराज में ONGC हुआ बर्बाद, 149 तेल और गैस क्षेत्रों को विदेशी कंपनियों के हाथों बेचेगी सरकार

पत्रकार स्वाति चतुर्वेदी ने इस मामले को लेकर तीखी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, “डियर जैक आपने फ़ेक न्यूज़ की समस्या से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात की, जबकि मोदी जी ख़ुद ही इसके कर्ताधर्ता हैं”।

उन्होंने संबित पात्रा के ट्वीट को शेयर करते हुए लिखा, “यह बीजेपी के आधिकारिक प्रवक्ता हैं जो विपक्ष के बारे में फ़ेक न्यूज़ फैला रहे हैं”।

बता दें कि जिस जैक का ज़िक्र स्वाति चतुर्वेदी ने अपने ट्वीट में किया है वह ट्विटर के सह-संस्थापक और मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) जैक डोरसे हैं। जैक ने मंगलवार को फेक न्यूज़ के मुद्दे पर पीएम मोदी से मुलाकात की थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

five × one =