प्रो. रतन लाल

योग-दिवस स्पेशल: क्या है ‘जनेऊ-लीला’!!!
जब ‘योग भगाये रोग’ का नारा चिल्लाने लगें और बीमार होने पर विदेश भागें- यही है जनेऊ-लीला!
जब लोग भूख से मरे और बाबा जबरदस्ती पेट पिचकाए, यही है जनेऊ-लीला!

जब पुरोहित प्रवचन-कर्ता मोबाइल फ़ोन, कार, एयर-कंडीशनर , हवाई जहाज का इस्तेमाल कर प्रवचन करे और कहे कि पुराने ज़माने में तकनीक आज के ज़माने से कई गुना ज्यादा थी और आप मान लें, यही है जनेऊ-लीला है!
आप भूखे हों और बाबा किट-कैट खा कर प्रवचन दे, यही है जनेऊ-लीला!

जब पुरोहित कहे कि आपको सब कुछ भगवान देता है और इस उम्मीद मैं हम और ज्यादा दान, चढ़ावा दें – यही जनेऊ-लीला है!
गृह-प्रवेश करें और पुजारी के कहने पर गोबर-गणेश पर पैसा चढ़ाएं, यही है जनेऊ-लीला!
जब हॉस्पिटल मैं जच्चा बच्चा को स्वस्थ्य रखने के लिए डॉक्टर द्वारा हवन पूजा करवाई जाय और आप यकीन कर लें – यही जनेऊ लीला है!

जब एक इंजीनियर पुल – भवन का शिलान्यास करने पर डिजाइन से ज्यादा हवन और भूमि-पूजन पर विश्वास करे – यही जनेऊ लीला है!
जब आप बीमार हों और आपको यकीन हो जाए कि आप बिना पूजा पाठ ठीक नहीं हो सकते – यही जनेऊ लीला है!
जब अंतरिक्ष यात्री उड़ान भरे और आप पूजा पाठ करके यकीन कर लें कि सब कुछ ठीक होगा – यही जनेऊ लीला है!
जब आपके बच्चे के न पढ़ने के लिए कुंडली में दोष, नौकरी न लगने पर गृह-दोष और अपने बच्चों के लिये आरक्षण को वजह बतलाए – यही जनेऊ लीला है!

सत्ताधारी जब स्वच्छ भारत अभियान, योग अपनाने को विकास-विकास चिल्लाने लगे और आप यकीन कर लें – यही जनेऊ लीला है!
जब बच्चे कुपोषण से मर रहे होते हों और आप दवाई और डॉक्टर के बजाय योग दिवस पर ध्यान लगाने लगें – यही जनेऊ लीला है!
जब प्रचार किया जाय कि प्रधान मंत्री जी बिना छुट्टी के 18 – 18 घंटे काम करते हैं और आप मान लें – यही जनेऊ लीला है!

जब 1% अमीरो की संपत्ति 39% बढ़ जाए और सरकार कहे कि वह गरीबों के लिए काम कर रही है और आप यकीन कर लें – यही जनेऊ लीला है!
जब कोई भी मंत्री अपने मंत्रालय पर प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं करे, कोई भी सवाल सुनना पसंद नहीं करें और आप उन्हें पारदर्शी मान लें – यही जनेऊ लीला !

और अंत मैं जब सरकार की लगभग सभी योजनायें फेल हो जाए, कोई लहर नहीं होती फिर भी सरकार को और ज्यादा सीट मिल जाय – यही जनेऊ लीला है!
27 जून को बिहार और उत्तर प्रदेश में पिशाच राज के विरुद्ध जंतर-मंतर पर आपका स्वागत है!
#संविधान_बचाओ_संघर्ष_समिति

(रतन लाल दिल्ली विश्विद्यालय के हिन्दू कॉलेज में एसोसिएट प्रोफेसर हैं )