• 1.9K
    Shares

कोलकाता के पुरुलिया में जनसभा को संबोधित करने पहुंचे उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि ममता बनर्जी प्रदेश के लोगों के साथ धार्मिक आधार पर भेदभाव कर रही हैं, वो मुहर्रम के जुलूस को होने देती हैं लेकिन दुर्गा पूजा को रोक देती हैं।

तो क्या योगी यही ज़हर बोने पश्चिम बंगाल जाना चाहते थे? तो क्या वो इसलिए इतने बेताब थे?

3 फ़रवरी को जब ममता बनर्जी सरकार ने बंगाल में उनके हेलीकॉप्टर को लैंड करने की इजाज़त नहीं दी तो उन्होंने ममता पर लोकतंत्र की हत्या करने का आरोप लगाया।

पर हिंदू-मुस्लिम में यूँ ज़हर बो कर वो कौन से लोकतंत्र की हिफ़ाज़त में लगे हैं ज़रा बताएँगे?

क्या उन्हें नहीं मालूम की बंगाल की दुर्गा पूजा पूरी दुनिया में मशहूर है। कई दुर्गा मूर्तियों को बनाने वाले तो ख़ुद मुसलमान कारीगर हैं।… काश कि योगी आदित्यनाथ ये सब जानते।… या फिर जानते हुए भी वो नफ़रत की राजनीति करने से बाज़ नहीं आ रहे!