• 1.2K
    Shares

2019 लोकसभा चुनाव में अब चंद दिन ही रह गए हैं। ऐसे में सभी राजनीतिक पार्टियों के मेल-मिलाप ने तेजी पकड़ ली है। उत्तर प्रदेश में सपा–बसपा गठबंधन के बाद बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने सोमवार को समाजवादी पार्टी के नेता अखिलेश यादव से मुलाकात की। इससे पहले उन्होंने बसपा सुप्रीमो से मुलाकात की थी।

अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद आरजेडी नेता तेजस्वी यादव ने बताया कि अब जाकर उनके पिता लालूप्रसाद यादव का सपना पूरा हुआ है। तेजस्वी ने कहा कि हमने अखिलेश यादव और मायावती को बधाई दी। मायावती और अखिलेश यादव ने जो कदम उठाया है उससे देश नागपुरिया कानून से बच जाएगा।

मायावती के पैर छूकर तेजस्वी ने लिया आशीर्वाद, बोले- अब UP और बिहार में भाजपा की हार तय

तेजस्वी यादव ने आगे कहा कि देश में ‘अघोषित इमरजेंसी का माहौल है।’ देश में नौजवान बेरोज़गार घूम रहे हैं। अखिलेश यादव से मुलाताक के बाद आरजेडी नेता ने कहा है देश में अघोषित इमरजेंसी का माहौल है। संघ के एजेंडे से आज पर आज संविधान से छेड़छाड़ हो रही है। देश के नौजावान बेरोज़गार हैं।

तेजस्वी का कहना है कि यूपी–बिहार से भाजपा का सफाया तय है। यूपी की 80, बिहार की 40 और झारखंड की करीब 14 सीटें पर बीजेपी को मात देती है तो वह ऑटोमेटिक 100 सीटें जीत जाएगी।

जो लोग यह पूछते हैं- 2019 में ‘मोदी बनाम कौन?’, उनके लिए मेरा जवाब है – ‘मोदी बनाम उनके वादे’ : तेजस्वी यादव

तेजस्वी यादव की इस मुलाकात के बाद अंदाजा लगाया जा रहा है सपा-बसपा के गठबंधन में राजद भी शामिल हो सकती है, और राजद को यूपी में 1-2 सीटें दी जा सकती है।

वैसे आपको बता दें कि तेजस्वी यादव की अगुवाई में राजद बिहार में कांग्रेस के साथ गठबंधन में है। मगर बहुजन नेताओं के साथ उनकी मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं।