• 1.5K
    Shares

कर्नाटक विधानसभा के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी को विधायकों की ख़रीद-फ़रोख़्त वाले ऑडियो क्लिप की जांच के लिए एक विशेष जांच दल (एसआईटी) का गठन करने का निर्देश दिया है। स्पीकर ने जांच 15 दिनों के भीतर ख़त्म करके रिपोर्ट सौंपने के लिए कहा है।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता मल्लिकार्जुन खड़गे स्पीकर के इस फैसले का स्वागत किया है। उन्होंने कहा कि, यह एक स्वागत योग्य संकेत है, उन्होंने एक सही निर्णय लिया है, एसआईटी सच्चाई सामने लाएगी। इस ऑडियो क्लिप में जेडीएस के विधायक नगनगौड़ा के बेटे शरनगौड़ा से बीएस येदियुरप्पा की कथित बातचीत है, जिसकी जांच की जाएगी।

स्पीकर रमेश कुमार ने कहा, “मैंने मुख्यमंत्री को एसआईटी बनाने की सलाह दी है। ताकि सच्चाई का पता चल सके कि, किसने कहा, क्यों कहा गया औक क्या वास्तव में ऐसा हुआ था? कुमार ने कहा कि, मैंने एसआईटी को 15 दिनों के भीतर रिपोर्ट दाखिल करने के लिए कहा है”।

लीक ऑडियो टेप में येदियुरप्पा बोले- सुप्रीम कोर्ट के ‘जजों’ को मैनेज कर सकते हैं मोदी और अमित शाह

बता दें कि येदियुरप्पा ने भी अब यह कबूल कर लिया है कि उन्होंने शरनगौड़ा से बातचीत की थी। हालांकि उन्होंने यह भी जोड़ा कि शरनगौड़ा को साज़िश के तहत मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने मेरे पास भेजा था।

उसी के हिसाब से उसने (शरन ने) बातचीत की रिकॉर्डिंग की। फिर ऑडियो टेप में मनमुताबिक छेड़छाड़ कर उसे सार्वजनिक किया गया। इससे पहले येदियुरप्पा ने बातचीत की बात से साफ़ इनकार कर दिया था।

कर्नाटक: विधायकों को 10 करोड़ का ऑफर दे रही है BJP, जनता के पैसों से जनमत खरीद रहे हैं मोदी-शाह

ग़ौरतलब है कि कर्नाटक के मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने शुक्रवार को येदियुरप्पा के कथित दो वीडियो क्लिप जारी किए जिसमें वे जेडीएस के विधायक नागन गौडा को प्रलोभन देते सुने जा सकते हैं। कुमारस्वामी ने दावा किया कि बीजेपी उनकी सरकार को गिराने की कोशिश कर रही है।