यूपी में लड़कियां अब घर में भी सुरक्षित नहीं है। ताजा मामला राजधानी लखनऊ का है जहां एक RSS कार्यकर्ता और लखनऊ के वकील धर्मेन्द्र कुमार सिंह सोमवंशी अपने घर आई नाबालिग़ लड़की के साथ तीन दिन तक दुष्कर्म करते रहे। बच्ची ने अपनी माँ को फोन करके आपबीती सुनाई जिसके बाद धर्मेंद्र को गिरफ्तार किया गया।

दरअसल मामला लखनऊ के मड़ियांव इलाके का है जहां वकील धर्मेंद्र के घर 12 साल की बच्ची अपने रिश्तेदार के यहां गर्मी की छुट्टी मनाने आई थी। हफ्ते भर पहले धर्मेंद्र के घर आई पीड़िता ने अपनी माँ को फोन करके रोते हुए अपने साथ हुई अपनी आपबीती सुनाई।

जिसके बाद बच्ची के पिता फ़ौरन सीतापुर से लखनऊ रात दस बजे धर्मेंद्र के घर पहुंचे और बच्ची को ले गए। इसके बाद पिता अपनी बेटी को मड़ियांव थाने ले गए। जहां उन्होंने प्राथमिकी दर्ज कराते हुए पुलिस को बताया कि बेटी ने दोपहर तीन बजे उन्हें कॉल करके घर ले जाने को कहा, लेकिन लाज-शर्म के कारण धर्मेंद्र की करतूत नहीं बता सके।

जिसके बाद पुलिस ने पिता की तहरीर पर प्राथमिकी दर्ज करके आरोपी वकील को गिरफ्तार किया है। उनके खिलाफ दुष्कर्म व पॉक्सो एक्ट के तहत प्राथमिकी दर्ज कर लिया है।

इस बारे में पुलिस ने जानकारी देते हुए कहा कि बच्ची को अस्पताल भेजने के साथ पुलिस टीम ने आरोपी वकील धर्मेंद्र कुमार सिंह सोमवंशी को गिरफ्तार कर लिया। वकील की गिरफ्तारी की भनक लगने पर उसके परिचित पैरवी करने थाने पहुंचे, लेकिन रिश्तेदार की नाबालिग बेटी से दुष्कर्म का पता चलने पर लौट गए।

आरोपी शख्स वकील है और राष्ट्रीय सेवक संघ का सदस्य बताया जा रहा है। ऐसी घटिया मानसिकता और शैतानी हरकत कोई भी कर सकता है। ऐसे लोगो के साथ कानून तो अपना काम करेगा ही मगर सवाल उठता है आखिर समाज में रहने वाले ऐसे शैतानों से कैसे बचा जाये जो मेहमान आई बच्ची के साथ दुष्कर्म करने पर उतारू है।