• 828
    Shares

लोकसभा चुनाव में नेता हो या कार्यकर्ता सब जोश में रहते है। कहीं कोई महिला नेता पर अभद्रता भरा भाषण दे रहा है। तो कहीं कोई सीधे सीधे गाली ही देता नज़र आ रहा है मगर जब ज़िम्मेदार पद पर बैठा शख्स अजब गज़ब बयान देने लगे तो भरोसा किसपर किया जाये। ये पता कर पाना अब मुश्किल हो गया कि कौन सच बोल रहा और कौन झूठ।

देश के सबसे अहम पद पर बैठे गृहमंत्री राजनाथ सिंह आज यूपी के शाहजहांपुर पहुंचे। वहां उन्होंने जनसभा में कुछ ऐसा कह दिया। जिसपर यकीन करना उतना ही मुश्किल है जितना मुश्किल आजकल के दौर में नेताओं का ईमानदार होना।

राजनाथ ने जनसभा में कहा कि जो भारत 5 साल पहले गरीब और कंगाल था अब भारत कहाँ है यह आप सब जानते हैं, क्या मोदी का यही गुनाह है? इस मौके पर उन्होंने बालाकोट में हुई एयरस्ट्राइक का ज़िक्र किया और चुनाव आयोग की नसीहत को भी दरकिनार कर दिया।

हैरान करने वाली बात भी है कि जो राजनाथ सिंह देश को 5 साल पहले गरीब और कंगाल बता रहें है। उनकी खुद की सम्पत्ति सरकार में आने के बाद बढ़ गई है। साल 2014 में राजनाथ के पास जहां उनकी कुल घोषित संपति 2.51 करोड़ थी जो पांच साल बाद बढ़कर 4.61 करोड़ हो गई है।

PM किसान योजना की खुली पोल! रैली में राजनाथ ने पूछा- 2 हजार मिले? किसान बोले- नहीं

वहीं अचल सम्पत्ति की बात की जाए तो वो 1.90 करोड़ से बढ़कर 2.97 करोड़ हो गई है। जिसमें विपुल खंड स्थित मकान और चंदौली में पैतृक जमीन तब भी जुड़ी थी और अब भी जुड़ी है। जबकि पत्नी के पास रहे 40 लाख रुपए अब 53 लाख हो गए हैं।

अब अगर व्यक्तिगत तौर पर राजनाथ सिंह के पास पांच साल पहले इतनी संपत्ति थी तो ऐसे में देश में गरीबों के हितैषी बताने का दावा खोखला ही नज़र आता है। राजनाथ सिंह गृहमंत्री हैं उन्हें पता होना चाहिए था की गरीब होने के कारण कई हो सकते है जिसमें सबसे पहले शिक्षा है जिसकी लगातार कटौती होती रही है बजट और अब ऐसा भाषण की नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले देश गरीब था ये कहना भी सिर्फ एक जुमला है