कांग्रेस महासचिव प्रियंका गाँधी ने मंगलवार को अम्बाला में पीएम नरेन्द्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। प्रियंका ने मोदी की तुलना दुर्योधन से करते हुए कहा कि, ऐसा अहंकार दुर्योधन में भी था और उसका अहंकार नष्ट हुआ। प्रियंका गाँधी अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी के ऊपर मोदी द्वारा दिए बयान को लेकर बोल रही थीं।

प्रियंका ने अम्बाला में कुमारी शैलजा के लिए प्रचार करते हुए कहा कि, “देश ने अहंकार को कभी माफ नहीं किया। ऐसा अहंकार दुर्योधन में भी था। जब भगवान कृष्ण दुर्योधन को समझाने गए तो उनको भी दुर्योधन ने बंधक बनाने की कोशिश की। प्रियंका ने मोदी को लेकर कहा, इसीलिए ‘जब नाश मनुज पर छाता है, पहले विवेक मर जाता है।‘

प्रियंका ने रामधारी सिंह दिनकर की कविता को पढ़ते हुए पीएम मोदी पर निशान साधा। उन्होंने कहा, जब कृष्ण, दुर्योधन को समझाने के लिए गए तो दुर्योधन ने उन्हें बांधने की कोशिश की। फिर इसके बाद उन्होंने दिनकर की कविता पढ़ी, “हरि ने भीषण हुंकार किया, अपना स्वरुप विस्तार किया, डगमग-डगमग दिग्गज डोले, भगवान कुपित होकर बोले, जंजीर बढ़ा कर साध मुझे, हां-हां दुर्योधन बांध मुझे।”

इस रैली में बीजेपी पर हमलावर रहीं प्रियंका ने कहा कि, “चुनाव के प्रचार में बीजेपी नेता कभी नहीं कहते कि उन्होंने जो वादे किए थे वे पूरे किए या नहीं। कभी शहीदों के नाम पर वोट मांगते हैं, तो कभी मेरे परिवार के शहीद सदस्यों का अपमान करते हैं।” उन्होंने मेरे शहीद पिता का अपमान किया है। उन्होंने आगे कहा, ये चुनाव किसी एक परिवार के बारे में नहीं है, ये उन सभी परिवार के बारे में है जिनकी उम्मीदें और आशाएं इस प्रधानमंत्री ने पूरी तरह तोड़ दी है।

बता दें कि पीएम मोदी ने एक रैली में राजीव गाँधी को भ्रष्टाचारी नंबर एक कहा था, पीएम के इस बयान पर राहुल गाँधी सहित विपक्ष के तमाम नेताओं ने बेहद तीखी प्रतिक्रिया दी थी।

वहीं कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने पीएम मोदी के राजीव गाँधी पर दिए बयान के बाद ट्वीट कर कहा था कि, “मोदी जी लड़ाई खत्म हो चुकी है। आपना कर्मा इंतजार कर रहा है। मेरे पिता के बारे में ऐसा कहकर आप बच नहीं सकते। प्यार और आपको झप्पी।”