अब इसे मात्र एक संयोग कहा जाए या फिर एक सोची समझी साजिश लोकसभा चुनाव और मोदी सरकार-2 के गठन के बाद उत्तर प्रदेश में हत्याकांड का एक दौर सा चल पड़ा है। रामराज्य लाने की बात करने वाले सीएम योगी आदित्यनाथ के राज में जंगलराज व्याप्त हो गया है।

आगरा बार काउंसिल की अध्यक्ष दरवेश यादव की उनके साथी वकील ने गोली मारकर हत्या कर दी। दरवेश यादव को गोली मारने के बाद साथी वकील मनीष ने खुद को भी गोली मार ली।

मामला थाना न्यू आगरा क्षेत्र के कचहरी परिसर का है। यहां सम्मान समारोह के बाद वकील मनीष ने लाइसेंसी पिस्टल से दरवेश यादव को गोली मार दी। उसके बाद उसने खुद को भी गोली मार आत्महत्या कर ली।

दोनों को फौरन जिला अस्पताल पहुंचाया गया। लेकिन डॉक्टरों ने दरवेश यादव को मृत घोषित कर दिया। वहीं मनीष की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है। बता दें कि दो दिन पहले ही दरवेश यादव बार काउंसिल की अध्यक्ष चुनी गईं थीं।

लोकसभा चुनाव के बाद उत्तर प्रदेश में बच्चियों के साथ बलात्कार, लूट, हत्या, पत्रकारों को पुलिस द्वारा पीटना और पत्रकारों की गिरफ्तारी हो रही है। योगी सरकार की विरोधी और पत्रकार अब जंगलराज की संज्ञा देने लगे हैं।

वहीं यूपी में सपा के कार्यकर्ताओं और नेताओं की चुन-चुन कर उनकी हत्या की जा रही है। गाजीपुर में जिला पंचायत सदस्य विजय यादव और दादरी में विधानसभा के सपा अध्यक्ष रमतेग कटारिया की हत्या दिनदहाड़े गुंडों ने हत्या कर दी थी।