फिल्म अभिनेता शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान की मुंबई क्रूज शिप मामले में गिरफ्तारी करने वाले नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो के अधिकारी समीर वानखेडे पर महाराष्ट्र सरकार के मंत्री और एनसीपी नेता नवाब मलिक द्वारा कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं।

जिसके बाद समीर वानखेड़े जांच के घेरे में आ चुके हैं। एनसीबी अधिकारी समीर वानखेड़े के बाद नवाब मलिक ने फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।

अक्सर अपने विवादित बयानों की वजह से चर्चा में बनी रहने वाली फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत को हाल ही में मोदी सरकार द्वारा पदमश्री अवार्ड से नवाजा गया है।

जिसके बाद से ही विपक्षी नेताओं और सोशल मीडिया यूजर्स द्वारा उन पर सवाल खड़े किए जा रहे थे।

अब एनसीपी नेता नवाब मलिक द्वारा कंगना रनौत से पदमश्री अवार्ड वापस लेने और उन्हें गिरफ्तार करने की मांग कर डाली है।

दरअसल कंगना रनौत द्वारा देश की आजादी को लेकर दिए गए विवादित बयान पर एनसीपी नेता नवाब मलिक ने यह मांग की है।

उनका कहना है कि कंगना रनौत ने नशे की ओवरडोज ली है। इसीलिए वह इस तरह के उल-जलूल बयान दे रहे हैं।

आपको बता दें कि कंगना रनौत ने हाल ही में पदमश्री अवार्ड मिलने के बाद बयान दिया था कि असल में भारत को साल 2014 में आजादी मिली है। साल 1947 में तो भी भीख मिली थी।

एनसीपी नेता नवाब मलिक का कहना है कि फिल्म अभिनेत्री कंगना रनौत ने महात्मा गांधी से लेकर देश के सभी स्वतंत्रता सेनानियों का अपमान किया है। जिन्होंने भारत को आजादी दिलाई है।

एनसीपी नेता से पहले भारतीय जनता पार्टी के सांसद वरुण गांधी द्वारा कंगना रनौत दिए गए बयान की कड़ी निंदा की थी।

इसके अलावा कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कंगना रनौत पर कार्रवाई करने की मांग की है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

14 − 7 =