पहली बार मोदी सरकार के बनते ही देश के कई हिस्सों में जबरन धार्मिक नारे लगवाने का चलन शुरू हुआ था वो अब भी जारी है, हाँ ये अब बढ़कर राजधानी दिल्ली तक पहुँच चुका है।

बीती रात एक मौलाना को जय श्री राम ना बोलने पर कार से टक्कर मार दी गई।

दरअसल दिल्ली के अमन विहार इलाके में एक मुस्लिम शख्स पर जानलेवा हमला किया गया। शख्स ने अपना नाम मौलाना मोमिन बताते हुए कहा कि कुछ लोग कार के अंदर बैठे हुए थे उन्होंने मुझसे जय श्री राम बोलने के लिए कहा, मैंने ऐसा कहने से इनकार कर दिया।

जिसके बाद कार में बैठे युवक मुझे गाली देने लगे फिर कार से टक्कर मार दिए, जिससे मैं घायल हो गया।

इन सब हैरानी वाली बात ये है की दिल्ली पुलिस ने इस पूरे मामले को महज एक एक्सिडेंट के तौर पर देख रही है। जबकि पीड़ित शख्स का सीधा आरोप है की उसके साथ जबरन धार्मिक नारे लगवाए गए हैं। पुलिस फिलहाल इस घटना की सीसीटीवी फ़ुटेज तलाश रही है।

ऐसे में सवाल अब भी यही है कि पुलिस ने इस मामले को धार्मिक उन्माद में क्यों नहीं दर्ज किया? आरोप के मुताबिक ये सांप्रदायिक उत्पीड़न का मामला है। ऐसे में क्या पुलिस का रवैया गैर जिम्मेदाराना नहीं है? जिस तरह से उसने इस पूरे मामले को महज एक एक्सिडेंट का नाम दिया है।

फोटो साभार- ANI