नरेंद्र मोदी व उनकी पार्टी के सभी नेता यही बोलते हैं कि मोदी के अलावा देश के पास कोई और विकल्प नहीं है. विपक्ष का कोई नेता नहीं जो मोदी को प्रधानमंत्री पद के लिए टक्कर दे सके. ऐसे में बसपा सुप्रीमो मायावती ने BJP को अपने निशाने पर लिया.

उन्होंने कहा की ऐसा कहकर की विपक्ष के पास मोदी के खिलाफ पीएम पद का उम्मीदवार नहीं है BJP जनता का अपमान कर रही है. ये उनके अहंकार को दर्शाता है. ऐसा ही कुछ नेहरू के समय हुआ था. लेकिन देश ने उसका जवाब दिया था.

असम के पूर्व DGP बोले- मेरा वोट किसी और को गया, डर की वजह से नहीं कर सका शिकायत

मायावती ने ट्विटर पर लिखा, ‘BJP एण्ड कम्पनी के लोग यह कहकर कि मोदी के मुकाबले विपक्ष का पीएम पद का उम्मीदवार कौन है, देश की 130 करोड़ जनता का बार-बार अपमान क्यों करते रहते है? ऐसा ही अहंकारी सवाल पहले उठाया गया था कि नेहरू के बाद कौन? लेकिन देश ने इस का तगड़ा व माकूल जवाब तब भी दिया था व आगे भी जरूर देगा.’

BJP ने 2019 लोकसभा चुनाव के नतीजे आने से पहले ही अगले प्रधानमंत्री नाम की घोषणा कर दी है. उनके मुताबिक नरेंद्र मोदी ही एक बार फिर पीएम पद की बागडोर संभालेंगे. इस बार का आमचुनाव मोदी के नाम से लड़ा जा रहा है.

दावा है कि अगर एनडीए सत्ता में जीतकर आई भी तो भी पीएम मोदी ही चुने जाएंगे. जबकि कांग्रेस व अन्य पार्टियों के गठबंधन को मोदी ने ‘महामिलावत’ करार दिया है.

मुकेश अंबानी ‘कांग्रेस’ को वोट करेंगें इसका मतलब मोदी फिर PM नहीं बनने वाले है : राज ठाकरे

साल 1990 से अब तक आठ बार गठबंधन की सरकारें बन चुकी हैं पर कभी भी प्रधानमंत्री का चेहरा पहले से ही बताकर चुनाव नहीं लड़ा गया है. फिर चाहे वो चंद्रशेखर हों, वाजपई हों, आइके गुजराल हों या मनमोहन सिंह.