• 580
    Shares

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 30 मई को होने वाले शपथ ग्रहण समारोह में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने शामिल नहीं होंगी। पहले उन्होंने इस समारोह में शामिल होने की बात कही थी, लेकिन अब इनकार कर दिया।

उन्होंने कहा, ‘एक घंटे पहले तक मेरा प्लान था कि समारोह में जाऊंगी लेकिन मैं मीडिया रिपोर्ट देख रही हूं जिसमें बीजेपी दावा कर रही है कि बंगाल में हुई राजनीतिक हिंसा में 54 लोग मारे गए। यह झूठ है। इस वजह से मैंने समारोह में शामिल नहीं होने का फैसला किया’।

बता दें कि 30 मई की शाम नरेंद्र मोदी दूसरी बार भारत के प्रधानमंत्री के रूप में शपथ लेंगे। उनके साथ कई अन्य मंत्रियों को भी पद और गोपनीयता की शपथ दिलायी जाएगी।

RJD नेता का दावा- मतदान से ज़्यादा गिने गए वोट, संजय बोले- EC इस घपले पर ख़ामोश क्यों है?

ममता बनर्जी ने कहा, ‘शुभकामनाएं नए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी. संवैधानिक निमंत्रण को स्वीकार कर मेरा शपथ ग्रहण समारोह में आने का प्लान था। लेकिन पिछले एक घंटे से मैं मीडिया रिपोर्ट्स देख रही हूं, जिसमें बीजेपी दावा कर रही है कि उसके 54 लोग पश्चिम बंगाल में हो रही राजनीतिक हिंसा में मारे गए हैं, जो कि बिल्कुल गलत है। बंगाल में कोई भी राजनीतिक हत्याएं नहीं हुई हैं’।

उन्होंने कहा, ‘इन मौतों की वजहें व्यक्तिगत, पारिवारिक और अन्य  \विवाद हो सकती हैं, लेकिन कुछ भी राजनीति से संबंधित नहीं है। हमारे पास ऐसा कोई रिकॉर्ड नहीं है। इसलिए मैं क्षमा चाहती हूं नरेंद्र मोदी जी। मैं शपथ ग्रहण में नहीं शामिल होने के लिए मजबूर हूं’।

ख़ुलासाः बेगूसराय-बदायूं सहित चार राज्यों की कई सीटों पर मतदान से ज़्यादा गिने गए वोट

वहीं केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने भी पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होने का फैसला किया है। सीएम ऑफिस से बयान जारी कर ये जानकारी दी गई है कि पिनराई विजयन पीएम मोदी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here