प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में एक पिता ने अपनी तीन बेटियों ज़हर खाकर ख़ुदकुशी कर ली। बताया जा रहा है कि मृतक आर्थिक तंगी से परेशान था, इसलिए उसने यह कदम उठाया। फिलहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

घटना वाराणसी के लक्सा थाने के नई सड़क गीता मंदिर इलाके की है। मृतक का नाम दीपक गुप्ता बताया जा रहा है। ख़बरों के मुताबिक, दीपक गुप्ता ने ख़ुदकुशी करने से पहले अपनी पत्नी से लड़ाई कर उसे मायके भेज दिया था। पत्नी के जाने के बाद उसने अपनी तीनों बेटियों को ज़हर दिया और ख़ुद भी ज़हर खाकर जान दे दी।

दीपक की भतीजी साक्षी ने पुलिस को बताया कि चाचा की तीनों बेटियां आंगन में सोयी हुई थीं। कुछ देर बाद चाचा दीपक तीनों को कमरे में ले गए और उन्हें कुछ पिला दिया। अचानक दीपक की छोटी बेटी अपनी दादी के पास गयी और बोली कि दादी पापा ने हमें कुछ पिला दिया है। इसके बाद दीपक भी बाहर आया और शौचालय चला गया। अचानक दीपक की तीनों बेटियों को उल्टियां होने लगी।

चुनाव आयोग के कब्ज़े से 19 लाख EVM ग़ायब, क्या चुनाव में बड़े खेल की है तैयारी?

चारों की हालत बिगड़ती देख दीपक का साला उन्हें इलाज के लिए बीएचयू स्थित सुन्दर लाल अस्पताल के ट्रामा सेंटर ले गया, जहां इलाज के दौरान चारों की मौत हो गई। दीपक के रिश्तेदारों और आसपास के लोगों का कहना है कि दीपक की माली हालत ठीक नहीं थी, जिसे लेकर वह काफी परेशान था। लोगों का मानना है कि उसने ख़ुदकुशी का कदम आर्थिक तंगी से परेशान होकर उठाया।

एसपी सिटी दिनेश कुमार सिंह ने बताया कि दीपक और उसकी तीनों बेटियों के शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए गए है। जहां जहर से मौत की पुष्टी हो गई है। दिनेश कुमार ने यह भी कहा कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर मौत की वजह पूरी तरह स्पष्ट हो पाएगी। फिलहाल मामले की जांच की जा रही है।

जानकारी के मुताबिक, ख़ुदकुशी की खबर सुनने के बाद कांग्रेस प्रत्याशी अजय राय दीपक के घर पहंचे। जहां उन्होंने मृतक के परिजनों से संवेदनाएं व्यक्त कीं।