Kamal Nath
Kamal Nath
  • 3.2K
    Shares

मध्यप्रदेश का सियासी संकट अब बदले की कार्यवाही बनता जा रहा है। कर्नाटक में बागी विधायकों से मिलने गए कांग्रेस नेताओं को पुलिस ने जबरन हिरासत में ले लिया है। पुलिस का कहना है कि हमें किसी को भी मिलने से मना किया गया है जिस कारण कोई भी नेता होटल के अंदर जाकर नहीं मिल सकता है।

कांग्रेस के बागी विधायक अपना इस्तीफा देने पर अड़े हुए है वहीं कांग्रेस की तरफ से लगातार उनको मनाने की कोशिश की जा रही है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता व पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह समेत नेताओं का एक समूह कांग्रेस के बागी नेताओं से मिलने गया तो पुलिस ने उनको मिलने से मना कर दिया तथा जबरन हिरासत में ले लिया।

कर्नाटक में कांग्रेस नेताओं को जबरन हिरासत में लेने पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि देश में तानाशाही और हिटलरशाही हो रही है कभी भी किसी को भी बंधक बना लिया जाता है।

कमलनाथ ने ट्वीट करते हुए लिखा- बैंगलोर में भाजपा द्वारा बंधक बनाये गये कांग्रेस विधायकों से मिलने गये कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार दिग्विजय सिंह व कांग्रेस के मंत्रियो , विधायकों को मिलने से रोकना , उनसे अभद्र व्यवहार करना , उन्हें बलपूर्वक हिरासत में लेना पूरी तरह से तानाशाही व हिटलर शाही है।

आपको बता दे कि इससे पहले भी मध्य प्रदेश सरकार के मंत्री व कांग्रेस नेता जीतू पटवारी को भी पुलिस ने विधायकों से मिलने से रोका था तथा उनको साथ धक्का मुक्की भी की गयी थी और अब राज्य सभा सांसद दिग्विजय सिंह को हिरासत में लेना वाक्य में ही लोकतंत्र के लिए खतरा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here