केंद्र में सत्तारूढ़ मोदी सरकार पर सरकारी जांच एजेंसियों का दुरूपयोग कर विपक्षी दलों के नेताओं को निशाना बनाए जाने के आरोप कई बार लग चुके हैं।

हाल ही में भारतीय जनता पार्टी के नेता ने बयान दिया था कि जब से वह भारतीय जनता पार्टी में शामिल हुए हैं। अब सुख की नींद सो रहे हैं क्योंकि अब उन्हें सरकारी जांच एजेंसियों के छापेमारी की कोई चिंता नहीं है।

अब एक बार फिर महाराष्ट्र भाजपा के सांसद संजय पाटिल ने ईडी से संबंधित एक विवादित बयान दे डाला है। जिसमें भाजपा सरकार पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

महाराष्ट्र के सांगली जिले में आयोजित एक कार्यक्रम के दौरान भाजपा सांसद संजय पाटिल बयान देते हुए कहा है कि मैं भारतीय जनता पार्टी का सांसद हूं। इसलिए मेरे पीछे नहीं पड़ेगी। इसकी वीडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है।

जिसमें देखा जा सकता है कि भाजपा सांसद संजय पाटिल हंस-हंसकर केंद्रीय जांच एजेंसियों पर मजाक बना रहे हैं।

भाजपा सांसद संजय पाटिल ने कहा कि हम दिखावे के लिए 40 लाख की कार खरीदने के लिए लोन लेते हैं। वैसे हमने जितना कर्ज ले रखा है उसे देख कर भी हैरान हो जाएगी।

भारतीय जनता पार्टी के नेता द्वारा दिए गए इस बयान के बाद वह विपक्षी दलों के निशाने पर आ गए है।

इस तरह के आपत्तिजनक बयान के बाद महाराष्ट्र कांग्रेस ने उनके खिलाफ मोर्चा खोला है।

कांग्रेस का कहना है कि भाजपा नेता के इस बयान से यह बात तो साफ हो गई है कि पार्टी अपने सांसदों या विधायकों पर बिल्कुल भी केंद्रीय जांच एजेंसियों का इस्तेमाल नहीं करती। बल्कि इसका इस्तेमाल सिर्फ विपक्षी दलों के नेताओं के लिए किया जाता है।

आपको बता दें कि इससे पहले एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने भी मोदी सरकार पर आरोप लगाए थे कि ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स और एनसीबी जैसी सरकारी जांच एजेंसियों का इस्तेमाल विपक्ष की आवाज को दबाने के लिए किया जा रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

2 × three =