• 919
    Shares

देश की आर्थिक राजधानी कहीं जाने वाली मुंबई कल शाम अचानक थम गई। मुंबई के सबसे व्यस्त स्टेशन छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस और टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग को जोड़ने वाले फुटओवर ब्रिज का एक हिस्सा गिरने से 6 लोगों की मौत हो गई, जबकि 34 घायल हो गए। ये वही वक़्त था जब लोग अपने काम से घर की तरफ लौट रहें थे तभी वो पुल से नीचे जा गिरे।

दरअसल कल (गुरुवार) शाम करीब 7:30 बजे जब लोग छत्रपति शिवाजी महाराज टर्मिनस और टाइम्स ऑफ इंडिया बिल्डिंग को जोड़ने वाले फुटओवर ब्रिज आ जा रहें थे तभी ये हादसा हुआ। हादसा क्योंकि इतना बड़ा था कि मौके पर पुलिस पहुंची जहां घायलों को जीटी और संत जॉर्ज हॉस्पिटल में भर्ती किया गया है।

मौके पर पहुंचे मुख्यमंत्री देवेंद्र फडनवीस ने पुल गिरने की उच्चस्तरीय जांच के लिए आदेश दे दिए। साथ ही राज्य सरकार की तरफ से मृतकों के परिजनों के लिए पांच लाख रुपये के मुआवज़े की घोषणा करते हुए घायलों को 50 हज़ार रुपये की मदद और मुफ्त इलाज की घोषणा की है।

वहीं इस मामले पर मुंबई पुलिस के संयुक्त आयुक्त देवेन भारती ने बताया कि फुटओवर ब्रिज हादसे में बीएमसी और रेलवे के कुछ कर्मचारियों के खिलाफ़ भारतीय दंड संहिता की धारा 304 (ए) के तहत लापरवाही के कारण मौत का मामला दर्ज कर लिया है।

इस हादसे पर बीजेपी प्रवक्ता संजू वर्मा ने न्यूज़ चैनल टाइम्स नाउ से बात करते फुटओवर ब्रिज की घटना को प्राकृतिक आपदा बताया।

इस बयान पर महाराष्ट्र कांग्रेस नेता संजय निरुपम ने ट्वीट करते हुए कहा, ये शर्मनाक है कि कल के हादसे पर बीजेपी मुंबईकर (मुंबई में रहने वालों) को दोष दे रही, कितने असंवेदनशील हो चुके ये लोग। अगर बीजेपी कोई सहानभूति है तो वो इस प्रवक्ता को फ़ौरन निकाले।