बिहार में राजद को शहाबुद्दीन के नाम से कोसने वाली बीजेपी ने ऐसे शख्स को पार्टी में शामिल किया है। जिसका नाम 90 में अपने नाम का खौफ दिखाने वाले बाहुबलियों के नाम में शुमार है। हत्या, लूट, अपहरण के 10 से अधिक मामले में लिप्त राजन तिवारी आज BJP में शामिल हो गया है।

राजन तिवारी का नाम बृज बिहारी हत्‍याकांड में सबसे ज्यादा चर्चा में रहा है। इस मामले में राजन समेत श्रीप्रकाश शुक्‍ला, मुन्‍ना शुक्‍ला, सूरजभान, मंटू तिवारी पर केस चला था।

राजन तिवारी के खिलाफ तो सीबीआई ने चार्जशीट में कहा कि इन्‍होंने ही बृज बिहारी की हत्‍या की। 2009 में सीबीआई की एक अदालत ने सबको उम्रकैद की सजा सुनाई। हालांकि 2014 में पटना हाई कोर्ट ने सभी को साक्ष्‍यों के अभाव में बरी कर दिया था।

ONGC के कैश रिज़र्व में 9,344 करोड़ की आई गिरावट, कर्ज़ लेकर कर्मचारियों को दी जा रही सैलरी

राजन तिवारी की BJP में एंट्री विपक्षी नेताओं को कतई अच्छी नहीं लग रही है। आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह ने लिखा- भाईसाहेब लखनऊ तहज़ीब का शहर है भाजपा एक संस्कारी पार्टी है अब ये राजन तिवारी माफ़िया नही महान संत बन चुका है काश ये तिवारी किसी दूसरी पार्टी में शामिल होता तो “TV वालों का WWF देखते।

बता दें कि ये पहला ऐसा मौका नहीं है जब बीजेपी ने दागी नेता को शामिल किया हो। इससे पहले टीएमसी से लेकर कांग्रेस और अन्य दलों के दागी नेताओं को भी बीजेपी ने अपने यहाँ एंट्री दी है। जिसे लेकर विपक्षी दल बीजेपी को वाशिंग मशीन कहकर भी तंज करते है जिसमें कहा ये जाता है की बीजेपी में जो दागी नेता गया उसके पाप साफ़ हो जाते है।