‘अपराधी या अपराधी मानसिकता के लोग या तो अपराध करना छोड़ दें या फिर प्रदेश छोड़कर चले जाये।’ ऐसा बयान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिया था जब उन्हें यूपी की सत्ता दी गई। इस बात को बोलने के बाद वहां बैठी जनता ने खूब तालियाँ बजाई थी और सीएम योगी मुस्कुरा रहे थे, मगर आज उनका कहा हुआ याद आ रहा है।

ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले दिनों अलीगढ़ में हुई मासूम बच्ची की हत्या से प्रदेश हिल गया था। अभी ये मामला ठंडा भी नहीं पड़ा था कि आज आगरा की कोर्ट परिसर में प्रदेश की पहली महिला बार काउंसिल अध्यक्ष बनी दरवेश यादव की गोली मारकर हत्या कर दी।

हैरान करने वाली बात ये है की जब घटना हुई ठीक उसी वक़्त सीएम योगी कानून व्यवस्था पर अधिकारियों के साथ बैठक कर रहे थे। दरवेश की हत्या करने वाले शख्स ने खुद को भी गोली मार ली। मगर वो अपने पीछे कई सवाल छोड़ गया आखिर परिसर में बंदूक कैसे पहुंची भले ही वो लाइसेंसी ही थी।

आखिर क्या कारण था कि उसने दरवेश की हत्या करने के बाद खुद को गोली मार ली? इस सबका जवाब तो यूपी पुलिस ही दे पाएगी जो इस मामले की जांच में जुटी है। मगर प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था पर सवाल अब उठने लगे है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव इस घटना पर दुःख व्यक्त किया है। अखिलेश ने सोशल मीडिया पर लिखा- सीएम बैठक पर बैठक कर रहे है। अपराधी अपराध पर अपराध! आगरा में बार काउंसिल अध्यक्ष की हत्या कानून व्यवस्था पर सुलगता सवाल। दुखद!