उन्नाव में एक बेटी के साथ की गई बर्बरता ने पूरे देश को झकझोर दिया है। बेटी को न्याय दिलाने के लिए शनिवार सुबह पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव विधानसभा के सामने धरने पर बैठ गए। अखिलेश ने कहा कि योगी के राज में कानून की धज्जियां उड़ गई हैं। इसके साथ ही अखिलेश यादव ने योगी सरकार में लचर कानून व्यवस्था और गुंडों को संरक्षण देने वाले लिए पुलिस प्रशासन की पोल दी।

बता दें कि जब अखिलेश यादव मुख्यमंत्री थे तब उन्होंने महिलाओं की सुरक्षा के लिए अलग से 1090 नाम से महिला हेल्पलाइन सेवा शुरू की थी। इसके जरिए महिलाएं सीधे पुलिस में अपनी शिकायत दर्ज करवा सकती थी। लेकिन यूपी में योगी सरकार आने के बाद 1090 की सेवा को ख़त्म कर दिया गया है। साथ ही योगी सरकार ने डायल 100 को बदलकर 112 कर दिया है।

प्रदर्शन के बाद अखिलेश ने 1090 को खत्म करने और डायल 100 का नाम बदलकर 112 रखने पर योगी से पूछा कि, “मैं योगी से जानना चाहता हूं कि लड़कियों के सम्मान के लिए जो 1090 था उसको क्यों बंद कर दिया?”

अखिलेश ने कहा, “मैं सरकार से जानना चाहता हूं कि हमने पुलिस को दुनिया की सबसे बेहतरीन रिस्पांस व्यवस्था दी क्या कारण था कि अपने उसे 112 कर किया? और बताओ 112 करने के बाद भी क्या तुमने बेटी को सुरक्षित अब्चा लिया? अगर उन्नाव की बेटी का कोई दोषी है तो वो आरोपियों के साथ-साथ योगी सरकार भी है।”

बता दें कि, सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव विधानसभा के सामने ही धरने पर बैठ गए। मृतक को श्रद्धांजलि देने के लिए 2 मिनट का मौन साधने के बाद अखिलेश यादव ने योगी के प्रशासन की विफलता पर सवाल उठाए।

समाजवादी पार्टी उन्नाव की बेटी के गुनाहगारों को कड़ी सजा दिलाने के लिए सड़क पर उतर प्रदर्शन कर रही है। सपा के कार्यकर्ता लखनऊ में योगी सरकार के खिलाफ जबरदस्त प्रदर्शन कर रहे हैं और पीड़िता को न्याय दिलाने की बात कह रहे हैं। वहीं लखनऊ में बीजेपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन इतना तेज हुआ कि बीजेपी के प्रदेश कार्यालय को बंद करना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here