• 196
    Shares

प्रधानमंत्री भाजपा नेता नरेन्द्र मोदी का ‘मैं भी चौकीदार’ नारा अब उनके लिए गले की हड्डी बन गया है। लोग उन्हें ‘चौकीदार चोर है’ बोलने लगे हैं। आगरा में महागठबंधन (सपा-बसपा-आरएलडी) की संयुक्त रैली में भी चौकीदार चोर है के नारे लगाए गए। यहां आई भारी संख्या में जनता ने जैसे ही चौकीदार चोर है के नारे लगाए। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा ‘ये सब जानते हैं कि चौकीदार क्या है।”

अखिलेश ने जनता से अपील करते हुए कहा कि “मोदी कभी चायवाला बनकर आए थे, इस बार जितने भी चौकीदार बनकर आए हैं उन सभी की चौकी आप छीन लेना। भाजपा हमारे और आपके बीच का भाईचारा खत्म करना चाहती है।”

पूर्व मुख्यमंत्री ने रोजगार पर मोदी सरकार को घेरते हुए कहा कि, ”ये सरकार अच्छी पढाई नहीं दे पा रही है और जब पढाई अच्छी नहीं होगी तो रोजगार कहाँ से मिलेंगे। उन्होंने नोटबंदी और जीएसटी को लेकर बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, “नोटबंदी के आंकडों में भी चोरी कर रही है बीजेपी, जीएसटी के जाल में हमारा व्यापारी फंस गया।”

समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष ने कहा कि, पहले चरण में वोटों की बारिश देख कर बीजेपी घबरा गई है। मायावती जी की आवाज को दबाने की कोशिश की जा रही है लेकिन जब मशीन बोलेगी तब लोगों के कान तब आवाज पहुंचेगी।

उन्होंने कहा कि जब देश का युवा नौकरी मांगता है तब उसे पकौड़ा तलने को कहा जाता है। अब सभी लोग चुनाव की तारीखों का इंतजार कर रहे हैं। स्वस्छ भारत के नाम पर झाड़ू उठाई और ताजमहल को लिस्ट से हटा दिया गाया।

बता दें कि बसपा सुप्रीमो मायावती के ऊपर चुनाव आयोग ने दो दिन तक किसी भी रैली, रोड शो पर प्रतिबंध लगा दिया है। ऐसे में उनके प्रतिनिधि के तौर पर बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्रा मिश्रा और उनके भतीजे आकाश आनंद ने रैली को संबोधित किया।