• 212
    Shares

बसपा सुप्रीमो मायावती पर 48 घंटों का बैन लगने के बाद अब उनके भतीजे आकाश आनंद ने कमान संभाल ली है। मायावती के भतीजे की सियासी एंट्री पर मीडिया ने जब हल्ला मचाया तब मायावती ने खुद मीडिया के सामने आकर आकाश आनंद को बसपा में शामिल करने की बात कही थी आज वो दिन आ ही गया जब बुआ की जगह आज भतीजे ने अपना पहला भाषण दिया।

दरअसल आज सपा-बसपा-आरएलडी की रैली में बसपा सुप्रीमो मायावती तो आगरा में गठबंधन की रैली संबोधित नहीं कर सकीं। ऐसे में बारी थी मायावती के भतीजे आकाश आनंद की जिन्होंने आज अपनी बुआ के ही अंदाज़ में चुनाव आयोग समेत मोदी सरकार पर हमला किया।

आक्रामक अंदाज में बोलते हुए आकाश ने कहा कि मैं आज आपके बीच पहली बार बोलने के लिए आया हूँ। मैं आप सबसे एक अपील करना चाहता हूँ कि आप महागठबंधन के सभी प्रत्याशियों को भारी मतों से जितायें और विपक्षियों की जमानत जब्त करायें। यही चुनाव आयोग को हमारा सही जवाब होगा।

मायावती को रोके जाने पर बोले अखिलेश- सेना के नाम पर वोट मांगने वाले मोदी को रोक सकता है EC?

आकाश ने अपने भाषण की शुरुआत बहुजनों के नारे ‘जय भीम’ से की। इसके बाद रैली में आए लोगों को आभार व्यक्त किया। आकाश ने कहा कि मैं आप लोगों के सामने पहली बार आया हूं। क्या आप मेरी बात मानोगे।

बसपा नेता ने आगे कहा कि मैं चाहता हूँ गठबंधन के प्रत्याशियों को जिताकर सामने वाली की जमानत जब्त कराना है, तभी आप सभी का चुनाव आयोग को सही जवाब होगा। आकाश जब ये भाषण दे रहें थे उसी वक़्त मंच पर सपा अखिलेश यादव, रालोद मुखिया अजित सिंह और बसपा महासचिव सतीश मिश्रा मौजूद रहे।

चुनाव आयोग की पाबंदी के चलते बसपा सुप्रीमो मायावती तो आगरा में गठबंधन की रैली संबोधित नहीं कर सकीं, लेकिन उनके भतीजे आकाश आनंद ने बुआ के लिए पहली बार जनसभा को संबोधित करते हुए जन समर्थन जुटाने का प्रयास किया।

राज ठाकरे ने की BJP को वोट ना देने की अपील- झूठ और नफरत फैलाने वालों को सत्ता से हटाए

आकाश आनंद मायावती के भाई आनंद कुमार के बेटे हैं। मायावती पहले ही सार्वजनिक मंच से आकाश आनंद को सक्रिय राजनीति में लाने के संकेत दे चुकी थीं। आगरा के कोठी मीना बाजार मैदान में मंगलवार को आकाश आनंद ने पहली रैली को संबोधित किया।

बता दें कि कोठी मीना बाजार मैदान पर ही मायावती चुनाव रैलियां करती रही हैं, लेकिन यह रैली मायावती के बैगर हुई। चुनाव आयोग ने मायावती के प्रचार करने पर 48 घंटे तक पाबंदी लगाई है। वो मंगलवार सुबह छह बजे से दो दिन तक चुनाव प्रचार नहीं कर पाएंगी।